कंप्यूटर पर निबंध Computer Essay in Hindi

कंप्यूटर पर निबंध Computer Essay in Hindi

कंप्यूटर पर निबंध

कंप्यूटर पर निबंध 300 शब्द

कंप्यूटर पर निबंध मनुष्य ने हमेशा अपनी गणितीय गणना के लिए गणना करने वाली मशीनों का उपयोग किया है। आज वास्तव में कंप्यूटर ऐसे यांत्रिक दिमाग का रूपात्मक और समन्वयात्मक योग और गुणात्मक घनत्व है, जो सबसे तेज गति से बना था, कम से कम कई प्रकार की जटिल गणना मशीनें, जो स्वचालित रूप से बहुत जटिल गणनाओं की गणना करती हैं। सबसे तेज, शुद्धतम और सबसे उपयोगी कंप्यूटिंग मशीन कंप्यूटर है।

19वीं सदी की शुरुआत में, चार्ल्स बेवेज़ नाम के एक व्यक्ति ने सबसे जटिल समस्याओं को मिनटों में हल कियाकंप्यूटर जटिल समस्याओं को मिनटों में हल कर देता है कंप्यूटर से की जाने वाली गणना के लिए एक विशेष प्रोग्राम तैयार किया जाता है जो निर्देश और सूचनाओं का पालन करते हैं अगर इसमें कोई गलती हो जाती है तो बाघ कहा जाता है कंप्यूटर अक्षर यार निर्देशों को अपने आप मशीनी भाषा में बदलता रहता है

कंप्यूटर का प्रयोग

कंप्यूटर का प्रयोग आजकल लगभग सभी क्षेत्रों में किया जाता है चाहे वह बड़े संस्थानों तकनीकी संस्थान और यह महत्वपूर्ण स्थान है यहां तक बड़ी-बड़ी बैंकों में खातों के रखरखाव के लिए भी कंप्यूटर का प्रयोग किया जाता है दूरसंचार के क्षेत्र में भी कंप्यूटर का प्रयोग किया जाता है वैज्ञानिक अनुसंधान मैं भी कंप्यूटर की भूमिका है मोती है आजकल कंप्यूटर का प्रयोग युद्ध के एक साधन के रूप में भी किया जाता है एटम बम की गणना के लिए भी कंप्यूटर का प्रयोग करते हैं

कंप्यूटर और मानव मस्तिष्क

कंप्यूटर को कृत्रिम मस्तिष्क कहा जाता है कंप्यूटर मानव मस्तिष्क की तुलना में बहुत जल्दी करना कर लेते हैं फिर भी कंप्यूटर एक यंत्र होता है जिससे सुविधा के अनुसार अपने प्रयोग के लिए डिज़ाइन किया जाता है कंप्यूटर में कोई निर्णय लेने के लिए स्वयं की कोई क्षमता नहीं होती है वह आपके दिए हुए निर्देशों पर ही कार्य करता है।

  वन महोत्सव पर निबंध Van Mahotsav Essay In Hindi

उपसंहार वर्तमान युग कंप्यूटर का ही युग है कंप्यूटर का प्रयोग दैनिक जीवन में लगभग सभी जगह होता है उदहारण मित्रों से बात करना शिक्षा के क्षेत्र में बैंकों में लेनदेन के रूप में आदि स्पष्ट है कि वर्तमान युग में कंप्यूटर का महत्वपूर्ण योगदान है ।

कंप्यूटर पर निबंध 500 शब्द

प्रस्तावना  कंप्यूटर असीमित क्षमताओं के साथ वर्तमान युग का एक क्रांतिकारी उपकरण है। यह एक ऐसा यंत्र-पुरुष है, जिसमें यांत्रिक मन का रूपात्मक और समन्वय योग और गुणात्मक घनत्व पाया जाता है। नतीजतन, यह कम से कम समय में तेज और निर्दोष गणना कर सकता है। प्रारंभ में, जटिल गणितीय गणना करने के लिए कंप्यूटर विकसित किए गए थे। आधुनिक कंप्यूटर के पहले सिद्धांतकार चार्ल्स बैबेज (1779-1871 ई.) ने गणित और खगोल विज्ञान के सूक्ष्म सारिणी तैयार करने के लिए एक बड़े कंप्यूटर तैयार किया।

 कंप्यूटर दूसरे विश्व युद्ध के दौरान बिजली से संचालित होते थे। उनका उपयोग केवल गणना के लिए भी किया जाता था। आज के कंप्यूटर केवल गणना करने तक ही सीमित नहीं हैं, बल्कि अक्षर, शब्द, अंक और कथन भी हैं। कई और कार्य प्राप्त करने या करने में सक्षम है ।

कंप्यूटर का उपयोग

आज जीवन के विभिन्न क्षेत्रों में कंप्यूटर का व्यापक उपयोग का इस्तेमाल किया है

प्रकाशन के क्षेत्र में माइक्रोप्रोसेसर का आविष्कार वर्ष 1971 में हुआ था। इस आविष्कार ने कंप्यूटर को छोटा, सस्ता और अक्सर अधिक शक्तिशाली बना दिया। माइक्रोप्रोसेसर के आविष्कार के बाद कई कार्यों के लिए कंप्यूटर का उपयोग करना संभव हो गया। पाठकों के सामने पुस्तक की 500 पन्नों की पांडुलिपि घंटों तैयार हो जाती हैं।

बैंकों में कंप्यूटर का इस्तेमाल बैंकों में भी हो रहा है। बैंकों में खातों के संचालन और लेनदेन खातों को बनाए रखने के लिए कंप्यूटर भी स्थापित किए जा रहे हैं। आज, ATM (ऑटोमेटेड टेलर मशीन) जैसी सेवाओं को केवल कंप्यूटर के माध्यम से 24 घंटे के पैसे के लेनदेन के लिए संभव बनाया गया है।

इंटरनेट प्रारंभ में कम्प्यूटर की गतिविधियां सूचना के आदान-प्रदान में वातानुकूलित कमरों तक सीमित थीं, लेकिन अब एक कंप्यूटर हजारों किलोमीटर दूर अन्य कंप्यूटरों से बातचीत कर उन्हें सूचना भेज सकता है। आज देश के सभी शहर इंटरनेट की सुविधा से पूरी दुनिया से जुड़े हुए हैं।

  प्रदूषण की समस्या और समाधान पर निबंध

ग्राफिक्स क्षेत्र में हमारे देश में कई कंप्यूटर नेटवर्क सिस्टम पहले ही स्थापित हो चुके हैं। तो अब सभी प्रमुख एयरलाइंस देश के सभी प्रमुख शहरों में हवाई और रेल यात्रा आरक्षण प्रणाली भी अस्तित्व में आई।
कंप्यूटर ग्राफिक्स में, कंप्यूटर न केवल संख्याओं और अक्षरों को संभाल सकता है, बल्कि रेखाओं और आंकड़ों को भी संभाल सकता है।

इमारतों, मोटर वाहनों और हवाई जहाजों आदि के डिजाइन तैयार करने में कंप्यूटर ग्राफिक्स का उपयोग व्यापक रूप से प्रयोग किया जा रहा है। आर्किटेक्ट अब कंप्यूटर स्क्रीन पर भी अपने डिजाइन तैयार करते हैं। कंप्यूटर अब कला के क्षेत्र में चित्रकार की भूमिका निभा रहे हैं। चित्र तैयार करने के लिए अब पेंट, ब्रश, पैलेट और कैनवस की आवश्यकता नहीं है। चित्रकार अब कंप्यूटर के सामने बैठा है और अपने नियोजित कार्यक्रम की मदद से कैनवास पर अपनी इच्छानुसार रंगीन रेखाएँ खींचता है।

संगीत के क्षेत्र में अब कंप्यूटर स्वर सेट करने का काम करने लगे हैं। पश्चिमी संगीत के स्वरों को कम्प्यूटर स्क्रीन पर प्रस्तुत करने में कोई कठिनाई नहीं है, लेकिन बीना जैसे भारतीय वाद्ययंत्रों के स्वर तैयार किए जाते हैं। ऐसा करने में दिक्कत हो रही है। लेकिन वह दिन दूर नहीं जब भारतीय संगीत की स्वर लहरों को भी उठाया जा सकता है और कंप्यूटर स्क्रीन पर प्रस्तुत किया जा सकता है।

खगोल विज्ञान के क्षेत्र में, कंप्यूटर ने वैज्ञानिक अनुसंधान के कई क्षेत्रों की पूरी संरचना को बदल दिया है। पहले खगोलविद पूरी रात दूरबीन से आकाशीय पिंडों का अवलोकन करते थे, लेकिन अब किरणों की मात्रा के अनुसार सटीक चित्र लेने के लिए इलेक्ट्रॉनिक उपकरण उपलब्ध हो गए हैं।

चुनाव में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन भी एक साधारण कंप्यूटर है। इन वोटिंग मशीनों का इस्तेमाल अब हमारे देश में वोट देने के लिए किया जा रहा है।

कंप्यूटर उद्योग भी उद्योगों में नियंत्रण का एक शक्तिशाली साधन है। कंप्यूटर अब बड़ी-बड़ी फैक्ट्रियां चलाने का काम संभाल रहे हैं। कंप्यूटर से जुड़कर, रोबोट विभिन्न प्रकार के औद्योगिक उत्पादों को संभाल सकते हैं।

 सैन्य कार्यों में आज भी शक्तिशाली नए सुपर कंप्यूटर विकसित किए जा रहे हैं, मुख्यतः महायुद्ध की तैयारी में। महाशक्तियों की ‘स्टारवार्स’ योजना कंप्यूटर नियंत्रण पर आधारित है।

  विज्ञान के चमत्कार निबंध

अपराध की रोकथाम में कंप्यूटर अपराध की रोकथाम में भी बहुत उपयोगी है। कई देशों में, सभी वाहन मालिकों, ड्राइवरों और अधिकृत अपराधियों के रिकॉर्ड एक विशाल पुलिस कंप्यूटर पर संग्रहीत किए जाते हैं। कंप्यूटर द्वारा एक बार में उपलब्ध आवश्यक जानकारी जो अपराधियों को पकड़ने में मदद करता है। यदि किसी अपराधी की कोई छवि उपलब्ध है तो कंप्यूटर सहायता अपराधी की किसी भी उम्र और प्रकृति की एक तस्वीर प्रस्तुत की जा सकती है।

कंप्यूटर और मानव मस्तिष्क

कंप्यूटर को लेकर आम आदमी के मन में कई तरह की भ्रांतियां हैं। कुछ लोगों ने इसे एक सुपर पावर के रूप में गलत व्याख्या की है जिसमें कंप्यूटर और मानव मस्तिष्क होने की क्षमता है – कंप्यूटर के बारे में कई गलत धारणाएं
आम जनता के दिमाग पर बहम करती है ।

लेकिन आपकी धारणाएं पूरी तरह से निराधार हैं। वास्तविकता यह है कि कंप्यूटर एकत्रित डेटा का इलेक्ट्रॉनिक विश्लेषण प्रस्तुत करने के लिए सिर्फ एक मशीन है। वह केवल वही कर सकता है जो उसे करने के लिए निर्देशित किया जाता है। वह स्वयं कोई निर्णय नहीं ले सकता और न ही वह कुछ नया सोच सकता है। यह मानवीय संवेदनाओं, योग्यताओं, भावनाओं और मन से रहित है, बस एक यंत्र है  जिसकी बुद्धि (Intelligence Quotient: IQ) मक्खी के बराबर है अर्थात कंप्यूटर बुद्धि में मनुष्य से कई हजार गुना पीछे है।

निष्कर्ष – निष्कर्ष रूप में यह कहा जा सकता है कि कंप्यूटिंग के भी दो पहलू होते हैं। अगर समझदारी से इस्तेमाल किया जाए तो यह वरदान साबित हो सकता है, नहीं तो यह मानवता के लिए विनाश का साधन भी बन सकता है।
इसलिए जरूरी है कि कंप्यूटर की क्षमताओं को ठीक से समझा जाए। शिक्षा और इलेक्ट्रॉनिक उपकरण; कंप्यूटर विज्ञान की उपेक्षा नहीं की जा सकती। लेकिन अगर उनके लिए बुनियादी शिक्षा की उचित व्यवस्था की जाती, तो देश में प्रौद्योगिकी का बहुत विकास होता।

अन्य पढ़े

समय के महत्व पर निबंध

जल ही जीवन है निबंध

विज्ञान वरदान या अभिशाप पर निबंध

Share this

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *