द्विगु समास Dvigu Samas in Hindi

द्विगु समास Dvigu Samas in Hindi

जिस समस्त पद को पूर्वपद संख्यावाची विशेषण हो और उत्तरपद उस संख्या का विशेष्य होता है, वह द्विगु समास कहलाता है।

Table of Contents

द्विगु समास के उदाहरण

अष्टग्रह आठ ग्रहों का समूह

सप्तनदी सात नदियों का समूह

त्रिवेणी तीन वेणियों (नदियों) का समाहार

तिरंगा तीन रंगों का समाहार

चतुष्पदी चार पदों का समूह

पंचवटी पाँच वट (वृक्षों) का समाहार

अष्टाधायी आठ अध्याय वाली

चौपाया चार पैरों वाला

त्रिभुवन तीन भुवनों का समूह

चवन्नी चार आने का समूह

नवग्रह नौ ग्रहों का समाहार

दोपहर दो पहरों का समाहार

अष्टकोण आठ कोणों का समाहार

चतुर्मास चार महीनों का समूह

चौपाई चार पटों का समूह

द्विगु दो गुणों का समाहार

सप्तसिन्धु सात सिन्धुओं का समूह

चहारदीवारी चार दीवारों से घिरा

पंचतत्त्व पाँच तत्त्वों का समूह

शताब्दी शत (साँ) वर्षों का समूह

षड्दर्शन छः दर्शनों का समाहार

दशावतार दस अवतारों का समाहार

पंजाव पाँच आब का समूह

अठनी आठ आनों का समूह

चौमासा चार मासों का समाहार

दुराहा/दोराहा दो राहों (रास्तों) का समूह

सात द्वीपों का समूह

पाँच पल्लवों का समाहार

सात सौ दोहों का समूह

तीन देवों का समूह

नौ निधियों का समाहार

तीन कोणों का समाहार

  असंगति अलंकार Asangati Alankar

पाँच सेरों का समाहार

आठ कोणों का समाहार

सप्तद्रीय सात सौ दोहों का समूह

पंचपल्लव पंचपल्लव का समाहार

नवनिधि नव निधि

त्रिकोण तीन कोणों का समाहार

पंसेरो पाँच सेरों का समाहार

अष्टकोण आठ कोणों का समाहार

नव – रत्न नौ रत्नों का समूह

पंचपात्र पाँच पात्रों (बर्तनों) का समूह

नवनिधि नौ निधियों का समाहार

त्रिफला तीन फलों का समूह

सप्ताह सात दिनों का समूह

पंचतन्त्र पाँच तन्त्रों का समूह

पञ्चगव पाँच गायों का समूह

पञ्चमुख पाँच मुखों का समूह

दुधारी दो धारवाली

त्रिशूल तीन शूल

Share this

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *