नीम के फायदे Neem Ke Fayde

नीम के फायदे Neem Ke Fayde

नीम के फायदे Neem Ke Fayde

नीम का पेड़ जिसे नीम के नाम से भी जाना जाता है, एक पौधा है जिसका वैज्ञानिक नाम अज़ादिराछा इंडिका है। नीम अत्यन्त उपयोगी वृक्ष है। यह जड़ से लेकर फूल-पत्ती,तने और फल तक सभी औषधीय गुणों से परिपूर्ण वृक्ष है.आइये जाने कि किस प्रकार नीम के सभी अंग हमें लाभ पहुँचाते हैं

नीम सिद्ध, आयुर्वेदिक और यूनानी दवाओं के मुख्य घटकों में से एक है और विशेष रूप से त्वचा की स्थिति के उपचार में इसका उपयोग किया जाता है। नीम के पत्तों का उपयोग एक्जिमा, सोरायसिस और अन्य बीमारियों के इलाज के लिए किया जाता है।

नीम के तेल का उपयोग बालों के इलाज, लीवर के कार्य में सुधार, रक्त को डिटॉक्सीफाई करने और शरीर में शर्करा के स्तर को संतुलित करने के लिए किया जाता है।

जड़ – नीम की जड़ को पानी में उबालकर पीने से बुखार दूर हो जाता है।

नीम से बने उत्पादों का उपयोग भारत में दो हजार से अधिक वर्षों से सिद्ध और आयुर्वेद के विशेषज्ञों द्वारा औषधीय प्रयोजनों के लिए किया जाता रहा है, विशेष रूप से एक कृमिनाशक, एंटिफंगल, एंटीडायबिटिक, जीवाणुरोधी, एंटीवायरल, गर्भनिरोधक और शामक के रूप में किया जाता है।

छाल-नीम की छाल पानी में घिसकर फोड़े-फुंसियों पर लगाने से वे ठीक हो जाते हैं।छाल को जलाकर उसकी राख में तुलसी के पत्तों का रस मिलाकर लगाने से दाग तथा अन्य चर्म रोग ठीकहोते हैं।इसमें दोगुना पिसा सेंधा नमक मिलाकर मंजन करने से पायरिया,दांत-दाढ़ का दर्द आदि दूर हो जाता है.

पत्तियां-नीम की कोमल नई कोपलों को दस-पन्द्रह दिन तक रोज चबाकर खाने से रक्त शुद्ध होता है।फोड़े-फुंसी आदि चर्म विकार नहीं होते.

दातुन-इससे मसुडे मजबूत बनते हैं तथा मुंह से दुर्गंध आना बंद हो जाता है।

फूल-नीम का फूल तथा निबोरियाँ खाने से पेट के रोग नहीं होते।

निबोरियाँ-निबोरी नीम का फल होता है.इससे तेल निकला जाता है.आग से जले घाव में इसका तेल लगाने से घाव बहुत जल्दी भर जाता है

नीम के पौधे के बीज भी बहुत उपयोगी होते हैं क्योंकि इनसे नीम का तेल निकाला जाता है जिसका उपयोग पशु चिकित्सा और मानव उपयोग के लिए दवाओं के उत्पादन में, जैविक कृषि के लिए कीटनाशकों और व्यक्तिगत स्वच्छता वस्तुओं जैसे साबुन, शैंपू के उत्पादन और त्वचा क्रीम में किया जाता है।

Share this

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

error: Alert: Content is protected !!