कहानियाँ

Showing 10 of 34 Results

त्रिनेत्री नामक पच्चीसवीं पुतली की कथा

  त्रिनेत्री नामक पच्चीसवीं पुतली की कथा  राजा विक्रमादित्य अपनी प्रजा के सुख दुख का पता लगाने के लिए कभी-कभी […]

चौबीसवीं पुतली करुणावती की कथा

  चौबीसवीं पुतली करुणावती की  कथा  राजा विक्रमादित्य का सारा समय ही अपनी प्रजा के दुखों का निवारण करने में […]

तेइसवीं पुतली धर्मवती कथा

तेइसवीं पुतली धर्मवती कथा एक बार राजा विक्रमादित्य दरबार में बैठे थे और दरबारियों से बातचीत कर रहे थे। बातचीत […]

अनुरोधवती नामक बाइसवीं पुतली की कथा

 अनुरोधवती नामक बाइसवीं पुतली की कथा   राजा विक्रमादित्य अद्भुत गुणग्राही थे। वे सच्चे कलाकारों का बहुत अधिक सम्मान करते थे […]

चन्द्रज्योति नामक इक्कीसवीं पुतली की कथा

चन्द्रज्योति नामक इक्कीसवीं पुतली की कथा  एक बार विक्रमादित्य एक यज्ञ करने की तैयारी कर रहे थे। वे उस यज्ञ […]

बीसवीं पुतली ज्ञानवती की कथा

बीसवीं पुतली ज्ञानवती की कथा  राजा विक्रमादित्य सच्चे ज्ञान के बहुत बड़े पारखी थे तथा ज्ञानियों की बहुत कद्र करते […]

रुपरेखा उन्नीसवीं पुतली की की कथा

रुपरेखा उन्नीसवीं पुतली की की कथा राजा विक्रमादित्य के दरबार में लोग अपनी समस्याएँ लेकर न्याय के लिए तो आते […]

सातवीं पुतली कौमुदी ने जो कथा

 सातवीं पुतली कौमुदी कथा एक दिन राजा विक्रमादित्य अपने शयन-कक्ष में सो रहे थे। अचानक उनकी नींद करुण-क्रन्दन सुनकर टूट […]

विद्यावती नामक सत्रहवीं पुतली की कथा

विद्यावती नामक सत्रहवीं पुतली की कथा  महाराजा विक्रमादित्य की प्रजा को कोई कमी नहीं थीं। सभी लोग संतुष्ट तथा प्रसन्न […]

सोलहवीं पुतली सत्यवती की कथा

सोलहवीं पुतली सत्यवती की कथा राजा विक्रमादित्य के शासन काल में उज्जैन नगरी का यश चारों ओर फैला हुआ था। […]

error: Alert: Content is protected !!