दृष्टांत अलंकार Drishtant Alankar In Hindi 

दृष्टांत अलंकार की परिभाषा Drishtant Alankar In Hindi

उपमेय और उपमान वाक्य तथा उनके साधारण धर्म का (धर्म पार्थक्य होते हुए भी) जहाँ बिम्ब-प्रतिविम्ब भाव (भाव-साम्य) हो, यहाँ दृष्टांत अलंकार होता है।

उदाहरण
भरतहि होइ म राज मदु विधि हरिहर पद पाइ।
कबहुं कि कांजी सीकरनि जीरसिन्धु बिनसाइ।।

जपत एक हरिनाम के पातक कोटि बिलाय।

लघु चिनगारी एकते घास ढेर जरि जाय।।

अन्य अलंकार पढ़े

अनुप्रास अलंकार यमक अलंकार पुनरुक्तिप्रकाश अलंकारवीप्सा अलंकारश्लेष अलंकार
उपमा अलंकारवक्रोक्ति अलंकारअनन्वय अलंकारप्रतीप अलंकाररूपक अलंकार
उत्प्रेक्षा अलंकारस्मरण अलंकार भ्रातिमान अलंकारसंदेह अलंकारउल्लेख अलंकार
दृष्टांत अलंकारअतिशयोक्ति अलंकारअन्योक्ति अलंकारअसंगति अलंकारविषम अलंकार
विरोधाभास अलंकार

Share this
  नासा ने किया 1अंतरिक्ष में रहने लायक कमरे का1परीक्षण

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

error: Alert: Content is protected !!